सुलझाई अंधे कत्ल की गुत्थी, पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर पति को उतारा था मौत के घाट

शाजापुर। सलसलाई थाना क्षेत्र के ग्राम मोचीखेड़ी-तिंगजपुर रास्ते में एक खेत पर मिले शव के मामले की पुलिस ने गुत्थी सुलझाते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले का बुधवार को एएसपी गोपालसिंह धाकड़ ने प्रेसवार्ता लेकर खुलासा किया।
धाकड़ ने बताया कि 19 दिसंबर 18 को तिंगजपुर रास्ते पर सुनेरा निवासी मेहरबानसिंह पिता कचरूलाल बागरी का शव मिला था, जिस पर जांच की गई। एएसपी ने बताया कि विवेचना के दौरान सामने आया कि मेहरबानसिंह की पत्नी गीताबाई के मंसूर खां पिता लतीफ खां के साथ अवैध संबंध थे, जिसके चलते गीताबाई ने अपने प्रेमी मंसूर खां और उसके साथी शिवनारायण पिता मांगीलाल मालवीय के साथ मिलकर पति मेहरबानसिंह की हत्या का षणयंत्र रचा और योजनाबद्ध तरीके से मेहरबानसिंह की हत्या कर शव मोचीखेड़ी के समीप खेत में फेंक दिया। मामले में तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है।
अवैध संबंध बन रहे हत्या के सबब
उल्लेखनीय है कि जिले में अवैध संबंध के चलते हत्या किए जाने के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। गतदिनों बडऩपुर सरपंच की अवैध संबंधों के चलते हत्या कर दी गई थी। वहीं अब सलसलाई थाना क्षेत्र में हुए अंधे कत्ल के मामले में भी अवैध संबंधों की बात सामने आई और यहां पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति को मौत के घाट उतर दिया। इसी तरह शाजापुर शहर के काशीनगर निवासी मौनू सौराष्ट्रीय की मौत के मामले में भी उसकी पत्नी मंजू सौराष्ट्रीय पर अवैध संबंध के चलते हत्या किए जाने का आरोप लगा है। हालांकि इस मामले में पुलिस जांच पूरी होने के बाद ही कुछ भी कह पाने की बात कह रही है। एएसपी धाकड़ का कहना है कि काशीनगर मामले में भी जल्द ही खुलासा किया जाएगा।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY