मौसम का बदला मिजाज, ओले के साथ हुई मूसलाधार बारिश

अनूपपुर/भालूमाड़ा, (एजेंसी)। पिछले कुछ दिनों से तापमान में लगातार हो रही उतार चढ़ाव में गुरूवार की दोपहर जिले के मौसम का मिजाज बदल गया। काले बादलों से आसमान से दोपहर अचानक आफत के रूप में बरस पड़ी। तेज गरज और ओले की हल्की बौछार के साथ जोरदार मूसलाधार बारिश हुई। इस दौरान तेज हवाओं ने मौसम का रूख ही और बदल दिया। आसमान से लगभग घंटाभर से अधिक समय तक झमाझम बारिश का सिलसिला चलता रहा।

यह बारिश जिला मुख्यालय अनूपपुर सहित जैतहरी, पसान, भालूमाड़ा, बदरा, कोतमा, बिजुरी तथा पुष्पराजगढ़ में दोपहर 2 से 2.30 बजे के आसपास से आरम्भ हुई और शाम 4 बजे तक बरसती रही। यहीं नहीं शाम 5 और 6 बजे के बीच दोबारा मौसम ने करवट बदली और तेज झमाझम बारिश का दौर शुरू हुआ। इसमें भी लगभग घंटाभर तेज बारिश गिरी। इस दौरान भालूमाड़ा, बदरा सहित आसपास के क्षेत्रों में चने से बड़े आकार में ओले भी गिरे।
हालात यह रहे कि मूसलाधार बारिश के कारण खेत-खतिहानों में मोटा पानी जम गया। बारिश बाद मौसम के तापमान में थोड़ी गिरावट दर्ज की गई। लेकिन बारिश से किसानों की चिंता बढ़ गई। सम्भावना है कि ओले की चपेट में आने से रबी फसल को नुकसान होगा। हालांकि इससे पूर्व बुधवार को भी शाम के समय भी अनूपपुर सहित कोतमा, पसान व जैतहरी क्षेत्र में तेज आंधी के साथ बारिश की बौछार गिरी।

गुुरुवार को हुई बारिश से जहां उन किसानों में खुशी है जिन्होंने गेहूं की फसल बोई है। जबकि उन किसानों के लिए यह बारिश आफत की बारिश साबित हुई, जिन्होंने दलहनी की खेती की है। इसके अलावा आम, महुआ के बौरे को भी पानी, हवा और ओले से नुकसान होने की सम्भावना बताई जा रही है। किसानों का कहना है कि दलहन की खेती पूरी तरह तैयार है, कुछ खेत में कटाई भी लग चुकी है। इसके कारण ऐसी कटी फसल या पकी फसल को नुकसान होगा। वहीं ओले से विलम्ब से बुवाई की गई गेहूं की फूल, आम व महुआ में लगे बौरे झड़ जाएंगे। गुरूवार को लगभग दो घंटे से अधिक समय तक हुई बारिश से जहां खेतों में पानी भर आया है, वहीं तेज हवाओं के कारण जिले के अधिकाशं क्षेत्रों अनूपपुर, जैतहरी, कोतमा, पसान, बदरा सहित अन्य क्षेत्रों में 2 घंटे से अधिक समय तक बिजली आपूर्ति पूरी तरह बंद रही। कुछ स्थानों पर बिजली के तार टूटने की सूचना मिली है। कृषि विभाग का कहना है कि आज अधिक बारिश हुई है। बारिश से पकी दलहनी फसलों को थोड़ा बहुत नुकसान होगा।
पेड़ पर गिरी आकाशीय बिजली, चार मवेशियों की मौत

गुरूवार की दोपहर हुई गरज के साथ झमाझम बारिश में अनूपपुर मुख्यालय से सटे भगतबांध गांव में आकाशीय बिजली की चपेट में आने से चार मवेशियों की मौके पर मौत हो गई। बताया जाता है कि केशरी राठौर के मवेशी बारिश के दौरान एक पेड़ के नीचे खड़े थे, तभी पेड़ पर आकाशीय बिजली आ गिरी और चारों मवेशियों की मौत हो गई। हिस

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY