एसबीआई और बीओबी ने किया सेविंग अकाउंट मिनिमम बैलेंस में बदलाव

नई दिल्ली (एजेंसी) । स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) और बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) ने सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस को लेकर निमय में बदलाव किए हैं। अब आपके सेविंग अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की राशि इस बात पर निर्भर करेगी कि आप किस शहर में रहते हैं। इसके अलावा आप जहां रहते हैं वह इलाका शहरी है या ग्रामीण।

आइए जानते हैं क्‍या है मिनिमम बैलेंस के नियम और चार्ज…
सेविंग अकाउंट में रखना होता है मिनिमम बैलेंस देश में बैंकों के नियम के मुताबिक सेविंग अकाउंट में एक मिनिमम बैलेंस रखना पड़ता है नहीं तो बैंक आपसे पेनाल्टी लेते हैं। यह महीने के हर दिन आपके सेविंग अकाउंट में कितनी राशि थी इस आधार पर मिनिमम बैलेंस का औसत निकाला जाता है, जिसके आधार पर बैंक पेनाल्टी चार्ज करता है। मेट्रो शहर में रखने होंगे कम से कम 3000 रुपये देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया (एसबीआई) ने मेट्रो शहरों के लिए तीन हजार रुपये, अन्‍य शहरों के लिए दो हजार और ग्रामीण शहरों के एक हजार रुपये रखा है।

एसबीआई के नए नियम के अनुसार आपको अपने सेविंग अकाउंट में इतनी राशि रखने होंगे। एसबीआई की वेबसाइट पर इसकी पूरी जानकारी दी गई है, जिसके अनुसार अभी मेट्रो शहर के अकाउंट में मिनिमम बैलेंस नहीं रहने पर 10-15 रुपये प्रतिमाह पेनाल्टी चार्ज किया जाता है। अन्य शहरों में ये पेनाल्टी राशि 7.5-12 रुपये के बीच होती है, जबकि ग्रामीण इलाके के लिए यह चार्ज 5-10 रुपये है। गौरतलब है कि पेनाल्टी पर जीएसटी भी लगता है। बीओबी ने भी किया बदलाव विजया और देना बैंक के बैंक ऑफ बड़ौदा (बीओबी) में विलय के बाद ये देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन गया है। एक फरवरी 2019 से बीओबी ने भी मिनिमम बैलेंस के नियम में बदलाव किया है। इस बैंक ने मेट्रो एवं अन्य शहरों के लिए सेविंग अकाउंट में कम से कम दो हजार रुपये की राशि तय की है। जबकि आपका अकाउंट ग्रामीण इलाके में है तो कम से कम एक हजार रुपये होने चाहिए।

मेट्रो एवं अन्य शहरी इलाकों के अकाउंट में मिनिमम बैलेंस नहीं होने पर 200 रुपये का जुर्माना है।वहीं, गैर शहरी इलाकों के लिए जुर्माने की राशि 100 रुपये निर्धारित की गई है। उल्लेखनीय है कि एक अप्रैल से विजया बैंक और देना बैंक को बीओबी में विलय कर दिया गया है।आने वाले समय में और भी कई बैंक को एक साथ विलय करने की कवायद जारी है। हालांकि जन-धन अकाउंट में मिनिमम बैलेंस की राशि निर्धारित नहीं है। इस अकाउंट होल्डर्स को मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर कोई जुर्माना नहीं देना पड़ता है। हि.स.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY