ब्रिटेन के कोर्ट से माल्या को झटका, प्रत्यर्पण के खिलाफ दी गई अर्जी खारिज

नई दिल्ली (एजेंसी)। भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या की भारत प्रत्यर्पण रोकने के लिए ब्रिटेन की अदालत में याचिका खारिज हो गई है। इसके बाद माल्या के भारत प्रत्यर्पण का रास्ता साफ होने की उम्मीद बढ़ गई है। माल्या ने ब्रिटेन की अदालत में अपील की थी कि उसे भारत प्रत्यर्पित नहीं किया जाए लेकिन अदालत ने उसे सिरे से खारिज कर दिया।

माल्या ने ब्रिटेन के गृह सचिव के आदेश के खिलाफ अदालत में याचिका दायर की थी, जिसमें विजय माल्या के भारत प्रत्यर्पण को मंजूरी दी गई है। भारत की सरकारी बैंकों के करीब 9 हजार करोड़ रुपये का कर्ज लेकर फरार शराब कारोबारी विजय माल्या को भारत लाने के लिए भारतीय जांच एजेंसियां लगातार प्रयास कर रहीं हैं।

माल्या मार्च, 2016 में भारत से लंदन भाग गया था। दिसम्बर, 2018 में ब्रिटेन की वेस्टमिनिस्टर कोर्ट ने माल्या के भारत प्रत्यर्पण का फैसला सुनाया। इसे वहां सचिव ने मंजूरी दे दी थी। इसके खिलाफ माल्या ब्रिटेन की अदालत पहुंचे और याचिका दायर की। माल्या लंबे समय से सरकार से 100 फीसदी धन लौटाने की बात कर रहे हैं। मुंबई की अदालत पहले ही माल्या को बैंकों से धोखाधड़ी के जुर्म में भगोड़ा घोषित कर चुकी है, जिसके बाद ही भारत सरकार ने ब्रिटेन से माल्या के भारत प्रत्यर्पण की मांग करनी शुरू की थी। हि.स.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY