आकाशीय बिजली की चपेट में आने से पांच किसानों की मौत

बेंगलुरु, (एजेंसी)।कर्नाटक के कुछ हिस्सों में मंगलवार को हुई भारी बारिश के बीच आकाशीय बिजली गिरने से अलग-अलग स्थानों पर पांच किसान और कई पशुओं की मौत हो गई जबकि अन्य चार लोग घायल हो गए। उधर, अंदरूनी कर्नाटक, मलनाड और तटीय कर्नाटक में कमजोर मानसून का अनुमान बताया गया है। राज्य के 125 तालुक सूखे से जूझ रहे हैं। ऐसे में रबी की फसल पर प्रभाव पड़ सकता है।
भालकी में सिद्धेश्वर के पास तलवाड़ गांंव के मादप्पा सिद्दप्पा (57) की खेत में काम करने के समय बिजली गिरने से मौत हो गई। इस हादसे में एक बैल भी मारा गया। इसी तरह हुमनाबाद तालुक के दबलागुंडी गांंव में खेत में कार्यरत दयानंद सिदरमप्पा सिराशेट्टी (43) भी आकाशीय बिजली की चपेट में आ गया। इस दौरान मनिकप्पा हल्लीखेड़कर, अनिल करूर, जगप्पा पसरागी और बसवराज हुदगी गंभीर रूप से झुलस गए। कट्टमेडु गांव में आकाशीय बिजली गिरने से एक गाय की मौत हो गई। चिक्कमगलुरु शहर और आसपास के इलाकों और कडूर के अन्य हिस्सों में पहले हल्की बारिश हुई और शाम तक तेज हो गई। बिजली गिरने से गुरमिटकल तालुक के माधवारा गांव में अशोक (33) और उसके भतीजे चंद्रशेखर (28) की मौत हो गई। इसके अलावा दावणगेरे जिले में खेत में काम करने के दौरान बिजली गिरने से मल्लण्णा (52) की मौत हो गई। विभिन्न स्थानों पर बिजली गिरने के कारण कई मवेशियों की भी जान चली गई।
मौसम विभाग ने आगामी दो-तीन दिनों के दौरान अंदरूनी कर्नाटक में कुछ स्थानों पर भारी वर्षा का अनुमान जताया है। कोडगु के विभिन्न हिस्सों में मंगलवार को अच्छी बारिश हुई। कॉफी और काली मिर्च उगाने वाले किसान बारिश से खुश हैं, क्योंकि फसलों को पानी की जरूरत थी। हिस

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY