पीएनबी में हो सकता है OBC, आंध्रा और इलाहाबाद बैंक का मर्जर, जानिए क्‍या है इसकी वजह

नई दिल्ली (एजेंसी)। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में दो या तीन सरकारी बैंकों का कंट्रोल अपने हाथों में ले सकता है. एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इन बैंकों में ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (ओबीसी), आंध्रा बैंक और इलाहाबाद बैंक शामिल हो सकते हैं.
दरअसल भारत सरकार लगातार छोटे क्षेत्रीय सरकारी बैंकों को बेहतर प्रबंधन वाले सरकारी बैंकों में विलय की दिशा में प्रयास कर रही है. इसके माध्यम से सरकार का लक्ष्य बैड लोन्स के स्तर को कम करना है. गौरतलब है कि इस वक्‍त सरकारी बैंकों के खातों में 9 लाख करोड़ रुपए के बैड लोन्स दर्ज हैं, जो कि सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के लगभग 5 फीसदी के बराबर है.
तीन महीने में शुरू हो सकती है प्रक्रिया
गौरतलब है कि बीते साल सरकार के स्वामित्व वाले भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) ने आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) का अधिग्रहण किया था, जो सबसे ज्यादा बैड लोन्स वाले बैंकों में से एक था. सूत्रों के मुताबिक इस क्रम में पीएनबी (PNB) अगले तीन महीनों में बैंकों का कंट्रोल अपने हाथ में लेने की प्रक्रिया शुरू कर सकता है.
बैंकों के शेयरों में गिरावट
मर्जर की खबर से पीएनबी का शेयर करीब 2.50 फीसदी कमजोर होकर मंगलवार को बंद हुआ. वहीं, इलाहाबाद बैंक के शेयर में 2.6 फीसदी और ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स में 1 फीसदी कमजोरी दर्ज की गई. बता दें कि भारत सरकार लगातार पीएसयू बैंकिंग सेक्टर पर कर्ज के बोझ को घटाने की दिशा में काम कर रही है.
पीएनबी की टिप्पणी से इनकार
इस खबर पर पीएनबी ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, वहीं दूसरे बैंकों को भेजे गए ईमेल पर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली. वहीं, वित्त मंत्रालय ने भी इस पर टिप्पणी से इनकार कर दिया.एजेंसी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY