बिहार: तीन कथित मवेशी चोरों को ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मौत के घाट उतारा

छपरा, । सारण जिले के बनियापुर थाना क्षेत्र स्थित नंदलाल टोला पिठौरी गांव में शुक्रवार सुबह कथित तीन मवेशी चोरों को ग्रामीणों ने पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। सूचना मिलने के बाद स्थानीय पुलिस मौके पर पहुंची। इस दौरान एक कथित चोर की सांसे चल रही थी, जिसने सदर अस्पताल ले जाते समय रास्ते में दम तोड़ दिया। उधर परिजनों ने इसे मॉब लिंचिंग का मामला बताया है और सरकार से जांच कर कार्रवाई की मांग की है। फिलहाल मामले की जांच-पड़ताल जारी है।
पुलिस के अनुसार शुक्रवार सुबह चोर गांव में बंधे कुछ मवेशी को खोलकर ले जा रहे थे, तभी शौच के लिए जा रहे ग्रामीणों की उन पर नजर पड़ी। ग्रामीणों ने पीछा कर उन्हें पकड़ लिया और उनकी पिटाई शुरू कर दी। इस दौरान ग्रामीणों ने तीनों को पीट-पीटकर मौत के घाट उतार दिया। तीनों कथित चोर बनियापुर थानाक्षेत्र के पैगंबरपुर गांव निवासी राजू नट, वीरेश नट एवं नौशाद कुरैशी बताए जाते हैं। उधर, बनियापुर में तीन कथित चोरों की पीट-पीटकर हत्या के बाद प्रसाशन को लेकर कई सवाल खड़े हो गए हैं। मृतकों की शिनाख्त होते ही उनके परिजन सदर अस्पताल पहुंचे और जमकर हंगामा किया। परिजन मृतकों को निर्दोष बता रहे हैं।
पुलिस अधीक्षक हरकिशोर राय ने बताया कि बनियापुर के नंदलाल टोला में चोरी की घटना को अंजाम देने पहुंचे राजू, वीरेश और नौशाद की ग्रामीणों ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। मृतक पड़ोस के ही गांव के रहने वाले थे। जिसकी सूचना मिलने के बाद परिजन सदर अस्पताल पहुंचे, जहां उनका रो-रोकर बुरा हाल है।परिजनों ने इसे मॉब लिंचिंग का मामला बताया है और सरकार से जांच कर कार्रवाई की मांग की है। फिलहाल सदर डीएसपी सदर अस्पताल पहुंचकर मामले की छानबीन में जुटे हैं। उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जा रही है और दोषियों को चिन्हित किया जा रहा है। एजेंसी/हिस

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY