महबूबा की बेटी ने शाह को लिखी चिट्ठी, कहा अपराधियों की तरह किया जा रहा बर्ताव

जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती की बेटी इल्तिजा ने गृह मंत्री अमित शाह को एक खत लिखा है, साथ ही इल्तिजा ने एक ऑडियो मैसेज भी जारी किया है. उन्होंने कहा कि उन्हें उनके ही घर में हिरासत में ले लिया गया है.

इल्तिजा ने कहा कि कश्मीरियों को जानवरों की तरह रखा गया है और बुनियादी मानवाधिकारों से वंचित किया गया है. मुझे मीडिया से बात करने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है.

इल्तिजा ने वॉयस मैसेज में कहा कि उनके साथ अपराधी की तरह बर्ताव किया जा रहा है, और लगातार उनके ऊपर नजर रखी जा रही है. आवाज उठाने वाले कश्मीरियों के साथ मैं भी जान का खतरा महसूस कर रही हूं. मेरे साथ ऐसा इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि मैंने मीडिया से पहले बात की थी, और बताया था कि घाटी में कर्फ्यू लगाए जाने के बाद से कश्मीरियों को किस तरह की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

इल्तिजा ने खत में लिखा कि उन्हें मीडिया से बात करने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी गई है.

मां की गिरफ्तारी पर किया था विरोध

कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद हालात को मद्देनजर रखते हुए केंद्र सरकार ने जम्मू कश्मीर के नेताओं को हिरासत में ले लिया गया था. इन नेताओं में महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला भी शामिल रहे. महबूबा मुफ्ती के हिरासत में लिए जाने के बाद उनकी बेटी इल्तिजा मुफ्ती ने प्रतिक्रिया जाहिर की थी.

उस समय इल्तिजा ने अपनी मां की गिरफ्तारी पर नाराजगी जताई थी और सरकार से सवाल करते हुए कहा था, ‘मेरी मां को जानवरों की तरह बंद कर दिया गया.’ इसी के बाद इल्तिजा खबरों में और सोशल मीडिया पर चर्चा में बनी हुई थीं.

भारत सरकार के लिए काम करती हैं इल्तिजा

इल्तिजा भारतीय हाई कमीशन में सीनियर एडमिनिस्ट्रेटिव ऑफिसर के तौर पर भारत सरकार के लिए काम करती हैं. उन्होंने इंटरनेशनल रिलेशन में पोस्ट ग्रेजुएशन किया है.

महबूबा ने खुद की दोनों बेटियों की परवरिश

महबूबा मुफ्ती की एक और बेटी भी है जिसका नाम इर्तिका है जो कि बतौर प्रोफेशन एक लेखक हैं. साल 1984 में महबूबा मुफ्ती की शादी जावेद इकबाल के साथ हुई थी और दो बेटियों (इल्तिजा और इर्तिका) को जन्म देने के बाद उनका तलाक साल 1987 में हो गया था. दोनों बेटियों की परवरिश महबूबा मुफ्ती ने खुद की है.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY