माताटीला बांध से फिर छोड़ा गया 5.50 लाख क्यूसेक पानी, बेतवा उफान पर

हमीरपुर । माता टीला बांध से शुक्रवार को साढ़े पांच लाख क्यूसेक पानी बेतवा नदी में छोड़े जाने से यहां हमीरपुर जनपद बाढ़ के मुहाने पर आ गया है। बेतवा के साथ-साथ यमुना नदी भी उफान पर है जिससे शमशान घाट में बना मोक्ष धाम बाढ़ के पानी में डूब गया है। बड़ी संख्या में किसानों के खेत जलमग्न हो गये और मौरंग खदानों के पास लाखों मूल्य की डम्प पड़ी मौरंग भी पानी में बह गयी है। दोनों नदियों में बाढ़ की स्थिति को देखते हुये बाढ़ चौकियों के प्रभारियों को अलर्ट पर रखा गया है। दोनों नदियों के बढ़ते जलस्तर के मद्देनजर तटवर्ती ग्रामों को विशेष सतर्क रहने को कहा गया है।

माताटीला बांध से लाखों क्यूसेक पानी बेतवा नदी में छोड़े जाने से यहां जिले में धुरौली, मंगरौठ, चिकासी, सुजगवां, हरदुआ, बड़ेरा माफ, खालसा, बरौली, बिरहट, इस्लामपुर, इछौरा, बेंदो डांडा, बन्धौली, जिटकरी, रतौली, जमौड़ी, अतरौली, चंडौत, बसरिया, रिरुआ बुजुर्ग, भेड़ी व कुपरा आदि गांव प्रभावित होते है। इधर सदर तहसील क्षेत्र के बेरी, रानीगंज, बिन्दपुरी, इन्द्रपुरी, बेजेमऊ इस्लामपुर, जमरेही, पारा, कंडौर, हरेहटा, पतारा, केवटरा, नेठी, गिमुंहा, रिठौरा, कनौटा, बदनपुर, मोराकांदर, परसनी, कुम्हऊपुर, सहुरापुर, पौथिया, कीरतपुर, बरदहा, सहजना, कलौलीतीर, हेलापुर, चंदुलीतीर, अमिरता, कुछेछा, सूरजपुर, पारा ओझी, सिडऱा, टिकरौली, कारीमाटी, देवगांव, बड़ागांव तथा मेेरापुर के अलावा अन्य मजरे और डेरे बाढ़ के मुहाने आ गये है। वहीं बेतवा नदी की उफान से मौदहा तहसील क्षेत्र के बहदीना, अछपुरा, बजेहटा, भुजपुर आदि गांवों में बाढ़ का खतरा मंडरा गया है।

मौदहा बांध निर्माण खण्ड हमीरपुर के अधिशाषी अभियंता एके निरंजन ने बताया कि माताटीला बांध से साढ़े पांच लाख क्यूसेक पानी बेतवा नदी में छोड़ा गया है जिससे बेतवा नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ गया है। सुबह बेतवा नदी का जलस्तर 96.8 मीटर और यमुना नदी का जलस्तर भी 95.5 मीटर पार हो गया है। उन्होंने बताया कि इससे पहले बुधवार को दो लाख क्यूसेक पानी माताटीला बांध से बेतवा नदी में छोड़ा गया था जिसका असर गुरुवार की रात से दिखने लगा है। अब बांध से फिर साढ़े पांच लाख क्यूसेक पानी छोड़े जाने से नदी का जलस्तर तेजी से बढ़ रहा है। अधिशाषी अभियंता ने बताया कि बेतवा नदी इस समय 40 सेमी प्रति घंटा के हिसाब से बढ़ रही है वहीं यमुना नदी का जलस्तर बढ़ रहा है। उन्होंने बताया कि बाढ़ के खतरे को देखते हुये बाढ़ चौकियां अलर्ट पर है। बीबी.बंध पर बेतवा तटबंध पर स्लूस बाल्व पर नजर रखी जा रही है। बेतवा नदी से प्रभावित होने वाले दर्जनों गांवों में सतर्कता बनाये रखने को कहा गया है। अधिशाषी अभियंता ने बताया कि बाढ़ से निपटने के लिये यहां तैयारियां पूरी है। नावों की व्यवस्था के साथ ही कर्मियों को नदियों के जलस्तर पर नजर रखने के लिये निर्देश दिये गये है। मालूम हो कि यमुना नदी का खतरे का निशान 103.632 मीटर है वहीं बेतवा नदी का खतरे का बिन्दु 104.516 मीटर है। एजेंसी/हिस

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY